गुरुवार, 13 जनवरी 2011

पॉज़ीटिव ऐटीट्यूड

ग्राहक: आपने तो बताया नहीं था कि गजक के पैकेट में इनाम है !
दुकानदार: कुछ निकला क्या !?
ग्राहक: हां, खाते समय माचिस की तीली आई थी मुंह में।
दुकानदार: अच्छा व्यंग्य कर रहे हो ? क्या नेगेटिव ऐटीट्यूड है ! शुक्र नहीं मनाते कि मुंह में आग नहीं लगी !

5 टिप्‍पणियां:

  1. शुक्र बम्ब नही आया.
    लोहड़ी, मकर संक्रान्ति पर हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  2. वाकई, मुंह में आग लहीं लगी यह गनीमत है और यही पाजिटिव थिंकिंग भी ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. आप सब को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएं.
    सादर
    ------
    गणतंत्र को नमन करें

    उत्तर देंहटाएं

निश्चिंत रहें, सिर्फ़ टिप्पणी करने की वजह से आपको पागल नहीं माना जाएगा..

पुराने पोस्ट पढने के लिए इस पोस्ट के नीचे दाएं 'पुराने पोस्ट'(Older Posts) पर क्लिक करें-