गुरुवार, 11 अगस्त 2016

बात से बात- 8/डायरेक्ट वाले भगवान भी तो नहीं आते...

छोटी-सी छाती पर से बड़े-बड़े रीति-रिवाज गुज़रते रहे.....

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

निश्चिंत रहें, सिर्फ़ टिप्पणी करने की वजह से आपको पागल नहीं माना जाएगा..

पुराने पोस्ट पढने के लिए इस पोस्ट के नीचे दाएं 'पुराने पोस्ट'(Older Posts) पर क्लिक करें-

ब्लॉग आर्काइव